अक्षवि किसान-किसनी काफिला बिचून ग्राम पंचायत के आधुनिक किसान सुरेंद्र अवाना जी के फ़ार्म पर पहुँचा


जीवट भरे युवक आईआईटी खड़गपुर के विप्र गोयल ने "छारेड़ा अक्षवि किसान-किसनी टीम" का जीते-जागते शिक्षण-प्रशिक्षण हेतु, जयपुर जिले के आधुनिक जागरूक राज्य पुरुष्कार प्राप्त कृषक श्री सुरेंद्र जी अवाना के फ़ार्म का दौरा करवाया।




कृषक सुरेंद्र के पास 70 बीघा जमीन है। इस पर इन्होने एक फ़ार्म पोंड बना रखा है। इस फॉर्म पोंड में ये मछली व बतख पालन व्यवसाय करते है। अपने फ़ार्म पोंड पर कृषि पर्यटकों के लिए एक छोटी नाव की भी व्यवस्था कर रखी है। इसके अलावा ऊँट व मुर्गी पालन का भी व्यवसाय अपनी ही इस जमीन से करते हैं। अपने फॉर्म पर खाद्यान फसलों के साथ-साथ फूलों एवं औषधीय जड़ी=बूटी वाले पौधों की भी खेती करते हैं। एक डेयरी की भी स्थापना कर रखी है। इसमें उत्पादित जैविक दूध 75 रूपये प्रति लीटर के भाव से बिकता है। सुरेंद्र जी की जैविक कृषि व सहचरियों से उत्पादित माल डेढ़ से दो गुणी कीमत पर बिकता है। अपनी इस जैविक खेती से हर दिन आय पाते हैं। वर्ष में करोड़ रूपये तक भी आमदनी इनको मिलती है। जलवायु विषम परिस्थितयों में अपनी कृषि के लिए इन्होने ड्रिप-ड्रिप व फव्वारे सिंचाई की व्यवस्था कर रखी है। सुरेंद्र जी ने तापमान व वेंटीलेशन परिस्थितियों को नियंत्रित करते हुए कीटाणु बीमारी से बचने के लिए फसल की उन्नत किस्में ईजाद कर रखी हैं।




सुरेंद्र अवाना जी कहते हैं कि हमारे राज्य का पहला आईआईटीयन विप्र गोयल कृषि, कृषकों और जलवायु से जुड़ा है। इनके जीवट से एक बहुत बड़ी आशा राजस्थान राज्य को मिली है। निकट भविष्य में पूरे राज्य के किसान-किसनी व कृषि के उत्थान में यह एक शुभ संकेत है।

विप्र के साथ आई छारेड़ा युवा-वयस्क किसान अक्षवि टीम इस तरह का जीता-जगता प्रशिक्षण पा कर उत्साह व आशा से भर गई है।





Thanks for submitting!